blogid : 15457 postid : 682156

बाबा रामदेव द्वारा काले धन पर संघर्ष एक छलावा है ?

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में योगगुरु रामदेव की ओर से आयोजित एक समारोह में गुजरात के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने रामदेव की उम्मीदों पर खरा उतरने का वादा करते हुए कहा कि अगर भाजपा सत्ता में आती है तो वह उनके द्वारा उठाए गए मुद्दों को शत-प्रतिशत पूरा करेंगे। गौरतलब है कि पिछले दिनों रामदेव ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि मोदी को बिना शर्त समर्थन नहीं देंगे। उन्होंने मोदी से मांग रखी थी कि अगर उनकी सरकार सत्ता में आई तो कर प्रणाली में सुधार किया जाएगा और विदेशों में जमा काला धन वापस लाया जाएगा, तभी समर्थन दिया जाएगा।


एक तरफ जहां कुछ लोग तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित रामदेव के इस समारोह को यूपीए सरकार की भ्रष्ट नीतियों के खिलाफ एवं काला धन वापस लाने के मुद्दे पर रामदेव के प्रयास को एक साथ जोड़ रहे हैं, तो वहीं कुछ लोग भाजपा की तरफ से पीएम कैंडिडेट के लिए मोदी की ताजपोशी से ठीक पहले उन्हें साहसी तथा पीएम पद के लिए सबसे काबिल बताने वाले और देश के कई हिस्सों में मोदी का प्रचार करने वाले रामदेव के इस संघर्ष को एक छलावा बता रहे है।


आज का मुद्दा

बाबा रामदेव द्वारा काले धन पर संघर्ष एक छलावा है ?




Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

4 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Imam Hussain Quadri के द्वारा
January 7, 2014

बिलकुल सही ये बे पेंदी के लोटा और इनको भी कुर्सी का भूख है जो जल्द ही अपना भूख मिटने में लगे हैं .

Vishal के द्वारा
January 7, 2014

Modi for PM. No other can make a difference.

jiya के द्वारा
January 8, 2014

मुझे उस दिन की प्रतीक्षा है जब हमारे फर्जीवाल साहब मुल्लायम सिंह के खिलाफ कुछ बोलेंगे, जब वो लालू प्रसाद के खिलाफ कुछ बोलेंगे, जब वो मायावती के खिलाफ कुछ बोलेंगे, जब वो नितीश कुमार के भ्रष्टाचार पर बोलेंगे, जब वो शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार पर कुछ करेंगे, जब वो सीपीआई/सीपीएम के भ्रष्टाचारो पर कुछ कहेंगे, गुजरात में जब एक सरकारी संस्था के अनुसार भ्रष्टाचार नहीं है और तब भी हमारे फर्जीवाल साहब खोद खोद कर जबरदस्ती बिना किसी प्रमाण के भ्रष्टाचार निकाल लेते है तो शायद इन पर भी कुछ बोलेंगे, उस दिन से मैं AAP को सच में ही ईमानदारी के लिए राजनीती करने वाली एक मात्र सर्टिफाइड पार्टी मानूंगा,

ravindra pal bishnoi के द्वारा
January 23, 2014

बाबा जी का इरादा बिलकुल नेक है और वो वास्तव में कालाधन लाना चाहते है | इस हेतु उन्होंने कई बार आंदोलन भी किये है | मगर आज कालेधन के खिलाफ आवाज़ उठाने वाले के ऊपर सवाल उठाये जा रहे है , क्योँ ..? क्योंकि वो एक फ़क़ीर है ….. क्या एक फ़क़ीर को देश के बारे में सोचने का व कुछ कर गुजरने का हक़ नहीं है |


topic of the week



latest from jagran